20150523

"बिटिया एक एप्पल मुझे दे दो"....



एक छोटी सी बच्ची अपने दोनों हाथों में एक एक एप्पल लेकर खड़ी थी

उसकी मम्मी ने मुस्कराते हुए कहा कि
"बिटिया एक एप्पल मुझे दे दो"

इतना सुनते ही उस बच्ची ने एक एप्पल को दांतो से कुतर लिया.

उसकी मम्मी कुछ बोल पाती उसके पहले ही उसने अपने दूसरे एप्पल को भी दांतों से कुतर लिया

अपनी छोटी सी बेटी की इस हरकत को देखकर माँ ठगी सी रह गई और उसके चेहरे पर मुस्कान गायब हो गई थी...

तभी उसकी बेटी ने अपने नन्हे हाथ आगे की ओर बढाते हुए मम्मी को कहा....
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
"मम्मी ये लो.. ये वाला ज्यादा मीठा है. .....
शायद हम कभी कभी पूरी बात जाने बिना निष्कर्ष पर पहुंच जाते हैं...................

SOURCE - FACEBOOK

20150515

"माँ ये SC और ST क्या हैं ?" ......

स्कूल से एक 6th क्लास का बच्चा अपने घर आ कर अपनी माँ से पूछता है -

"माँ ये SC और ST क्या हैं ?"

माँ: बेटा ये तुम्हे क्यों जानना है ?
बच्चा: माँ आज सर हमसे पूछ रहे थे की कौन कौन sc st का हैं !!!!!

माँ: बेटा उन्होंने ऐसा क्यों पूछा उन्होंने नहीं बताया क्या ?

बच्चा: बताया पर सिर्फ इतना की जो जो sc st के हैं उन्हें पैसे मिलेगे और हो सकता है की obc वालो को भी दे दे पर माँ ये क्या होता हैं कास्ट?

माँ: बेटा हमारे सविधान में 4 कास्ट बनायीं है sc st obc और जनरल तो सरकार उन्हें गरीब और पिछड़े हुए लोगो को मदद करने के लिए सुविधा दी हैं।

बच्चा: पर माँ सिर्फ उन्हें ही क्यों मिलती हैं और मेरा दोस्त तो गरीब भी नहीं हैं फिर
भी उससे मिलेगे पैसे ..ये सुविधा गरीब के लिए हैं तो हम भी गरीब है न तो हमको क्यों नहीं मिलेंगे पैसे?

माँ: बेटा ये सविधान में लिखा है ।

बेटा: पर माँ सविधान के बारे में कहा था की सब को एक जैसा हक़ है तो फिर ये क्यों ?

माँ: बेटा ये सब राजनीति का गन्दा खेल हैं उनकी वजह से आज धर्म और जाति के नाम पर लोग एक सामान नही हैं
बेटा: पर माँ हम क्या हैं जिस से हम को पैसे नहीं मिलेगे ।

माँ: बदनसीब।
हम लोग बदनसीब है बेटा ।
पूरे विश्व में कही पर इस तरह का नियम नहीं है बस हमारे भारत में है ये सुविधा । ...सविधान निर्माता ने इसको सिर्फ 10 वर्ष के लिए रखा था पर ये देश के दलालो ने इसको पूर्ण रूप से लागू कर
दिया ।
....अगर इन्हें लागू करना ही है तो राजनीति में भी लागू करना चाहिए मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री भी sc और st का होना चाहिए तब पता चलेगा उन्हें भी ।

बेटा: माँ क्या आगे भी मुझे मुझे इसी तरह की दिक्कत होगी ???

माँ: हाँ बेटा । 
आगे तुझे पढ़ाई में,नोकरी में ,प्रमोशन में, हर जगह दिक्कत आएगी ...
जातिवाद का जहर तुझे मजबूर कर देगा और तू कितना भी सहन कर ले एक दिन तू जरूर बोलेगा की ये कोटा बंद करो ।

बेटा: माँ तो क्या हमारी मदद कोई नहीं करेगा काश में भारत छोड़ कही और पैदा हुआ होता ।

माँ: ऐसा नहीं बोलते बेटा इस धरती को हमारे पूर्वजो ने खून से सींचा हैं और बलिदान दिया है तुम्हे गर्व होना चाहिए की तुम एक भारतीय हो ।
बस ये सत्ता के भूखे लोग हमारी गरीबी दूर करने के बजाये वोट पाने की होड़ में हैं ।

बेटा: माँ मेरा दोस्त बोलता हैं की पैसे मिलेगे तो पार्टी करेगे. माँ हमें एक रोज
की रोटी बड़ी मुश्किल से मिलती हैं और मेरे दोस्त पार्टी करेगे । माँ में नहीं जाउगा स्कूल कल से ।

माँ: नहीं बेटा तुम रोज स्कूल जाओ और पढ़ो ....पढ़ लिख कर शायद तुम इस कोटा को बदल दो
बेटा : हा माँ में खूब पडूंगा पर हमारे पास इतने पैसे नहीं हैं की आगे पढ़ सकूँ...!!!

माँ: तू चिंता न कर मैं काम करुँगी न तेरी पढ़ाई के लिए |

इसे इतना शेयर करे कि ये सन्देश हमारे राजनेताओ तक पहुचे और वो सिर्फ गरीबो को कोटा दे न कि विकसित लोगो को |

यदि ये message आपको बार बार मिले तो परेशान न होए ।. 

इसे फिर शेयर कर दें। आपकी एक पहल शायद किसी प्रतिभाशाली व्यक्ति का जीवन सुधार दे।

..
Source - FACEBOOK

20150514

20150513

वह प्राइमरी स्कूल की टीचर थी |.....



       वह प्राइमरी स्कूल की टीचर थी | सुबह उसने बच्चो का टेस्ट लिया था और उनकी कॉपिया जाचने के लिए घर ले आई थी | बच्चो की कॉपिया देखते देखते उसके आंसू बहने लगे | उसका पति वही लेटे mobile देख रहा था |  उसने रोने का कारण पूछा । 

टीचर बोली , “सुबह मैंने बच्चो को  ‘मेरी सबसे बड़ी ख्वाइश’ विषय पर कुछ  पंक्तिया लिखने को कहा था ; एक बच्चे  ने इच्छा जाहिर करी है की भगवन उसे Mobile बना दे | 

यह सुनकर पतिदेव हंसने लगे | 

टीचर बोली , “आगे तो सुनो बच्चे ने  लिखा है यदि मै mobile बन जाऊंगा, तो घर में मेरी एक खास जगह होगी और  सारा परिवार मेरे इर्द-गिर्द रहेगा | जब मै बोलूँगा, तो सारे लोग मुझे ध्यान से सुनेंगे | मुझे रोका टोका नहीं जायेंगा और नहीं उल्टे सवाल होंगे | 

जब मै mobile बनूंगा, तो पापा ऑफिस से  आने के बाद थके होने के बावजूद मेरे  साथ बैठेंगे | मम्मी को जब तनाव होगा,  तो वे मुझे डाटेंगी नहीं, बल्कि मेरे साथ  रहना चाहेंगी | मेरे बड़े भाई-बहनों के बीच मेरे पास रहने के लिए झगडा होगा | 

यहाँ तक की जब mobile बंद रहेंगा, तब भी उसकी अच्छी तरह देखभाल होंगी | और हा, mobile के रूप में मै सबको ख़ुशी भी दे सकूँगा | “ 

यह सब सुनने के बाद पति भी थोड़ा  गंभीर होते हुए बोला , ‘हे भगवान ! बेचारा बच्चा …. उसके  माँ-बाप तो उस पर जरा भी ध्यान नहीं देते !’ 

टीचर पत्नी ने आंसूं भरी आँखों से उसकी तरफ देखा और बोली, 

“जानते हो, यह बच्चा कौन है? ………………………हमारा अपना बच्चा…… 

.. हमारा छोटू |” 

सोचिये, यह छोटू कही आपका बच्चा तो नहीं । .......



Source - facebook

20150502

रेलवे स्टेशन पर चाय बेचने वाले लड़के की नजरें अचानक ....


रेलवे स्टेशन पर चाय बेचने वाले लड़के की नजरें अचानक एक बुजुर्ग दंपति पर पड़ी। उसने देखा कि वो बुजुर्ग पति अपनी पत्नी का हाथ पकड़कर उसे सहारा देते हुए चल रहा था । थोड़ी दूर जाकर वो दंपति एक खाली जगह देखकर बैठ गए । कपड़ो के पहनावे से वो गरीब ही लग रहे थे ।
.
तभी ट्रेन के आने के संकेत हुए और वो चाय वाला अपने काम में लग गया। शाम में जब वो चाय वाला वापिस स्टेशन पर आया तो देखाकि वो बुजुर्ग दंपति अभी भी उसी जगह बैठे हुए है ।
.
वो उन्हें देखकर कुछ सोच में पड़ गया । देर रात तक जब चाय वाले ने उन बुजुर्ग दंपति को उसी जगह पर देखा तो वो उनके पास गया और उनसे पूछने लगा: बाबा आप सुबह से यहाँ क्या कर रहे है ? आपको जाना कहाँ है ?
.
बुजुर्ग पति ने अपना जेब से कागज का एक टुकड़ा निकालकर चाय वाले को दिया और कहा: बेटा हम दोनों में से किसी को पढ़ना नहीं आता,इस कागज में मेरे बड़े बेटे का पता लिखा हुआ है ।मेरे छोटे बेटे ने कहा था कि अगर भैया आपको लेने ना आ पाये तो किसी को भी ये पता बता देना, आपको सही जगह पहुँचा देगा ।
.
चाय वाले ने उत्सुकतावश जब वो कागज खोला तो उसके होश उड़ गये । उसकी आँखों से एकाएक आंसूओं की धारा बहने लगी ।
.
उस कागज में लिखा था कि......... "कृपया इन दोनों को आपके शहर के किसी वृध्दाश्रम में भर्ती करा दीजिए, बहुत बहुत मेहरबानी होगी..."


Share जरुर करे.!.....